BREAKING NEWS
Search

राष्ट्र के आर्थिक विकास के लिए व ऊर्जा संरक्षण को ऊर्जा के व्यर्थ उपयोग को रोकें

231

देहरादून। पैट्रोलियम एण्ड नेचुरल गैस मंत्रालय की संस्था पैट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ द्वारा सीएसआईआर-भारतीय पेट्रोलियम संस्थान देहरादून में सक्षम महोत्सव का शुभारम्भ किया गया। यह महोत्सव 16 जनवरी से 15 फरवरी तक आयोजित किया जायेगा। इसके अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।  इस वर्ष सक्षम महोत्सव का घोष वाक्य ‘ईंधन अधिक न खपाएं-आओ पर्यावरण बचाएं’ रखा गया है।

गिरीश गैरोला

उद्घाटन कार्यक्रम में सुबोध उनियाल, कृषि मंत्री मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे तथा एसजे चोपडा, कुलाधिपति, पेट्रोलियम और ऊर्जा अध्ययन विश्विद्यालय (यूपीईएस) तथा डॉ. अंजन रे, निदेशक, सीएसआईआर-आईआईपी  इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे। आईओसीएल के मुख्य रिटेल क्रय प्रबंधक मनोज जयंत ने इस समारोह के मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथियो तथा अन्य उपस्थित अतिथियो व प्रतिभागियो का स्वागत किया तथा श्सक्षमश् के इतिहास और वर्तमान थीम पर प्र्काश डाला। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सुबोध उनियाल कृषि मंत्री ने अपने उद्बोधन में पीसीआरए तथा आईआईपी को ईंधन संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रयासों के लिए बधाई दी और उपस्थित सभी को ईंधन बचाकर राष्ट्र की आर्थिक प्रगति और पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान देने के लिए अनुरोध  किया। उन्हांेने सभी को इस सम्बंधी शपथ भी दिलवाई। इस समारोह के विशिष्ट अतिथि डॉ अंजन रे ने इस कार्यक्रम को परस्पर सम्वादात्मक बनाते हुए समारोह में उपस्थित केंद्रीय विद्यालय के बच्चों से ईंधन तथा इसके संरक्षण सम्बंधी  उपाय पर चर्चा की। समारोह के विशिष्ट अतिथि एसजे चोपडा, कुलाधिपति, पेट्रोलियम और ऊर्जा अध्ययन विश्विद्यालय (यूपीईएस)  ने कहा कि आज यह अत्यावश्यक है कि  हम ऊर्जा के संरक्षण के लिए ऊर्जा के व्यर्थ उपयोग को रोकें। टीवी को मेन  स्विच  से बंद करें  व एसी को 26 से। तापमान पर चलाएं और जरूरत न हो तो इन्हें मेन स्विच से बंद करें क्योंकि स्टैंडबाय मोड़ में भी सभी उपकरण ऊर्जा की खपत करते हैं। ऊर्जा ऑडिट नियमित रूप से  होना चाहिए। युवाओं को चाहिए के वे  मौसम के अनुसार अपने आप को ढालें और हीटर ए सी आदि का कम से कम उपयोग करें। अकेले जा रहे हैं तो गाड़ी की पूलिंग करें। आवश्यकता है कि आज ईंधन के व्यर्थ  उपयोग को रोकने के लिए कुछ ऐसे उपाय किए जाए कि कार पूलिंग करने वाले, सार्वजनिक वाहन का उपयोग करने वाले लोगों को प्रोत्साहित किया जाए तथा अकेले व्यक्ति द्वारा बडी गाड़ियों के प्रयोग को कम करने के लिए। आज आवश्यकता है कि हम राष्ट्र के आर्थिक विकास के लिए तथा ऊर्जा संरक्षण के लिए ऊर्जा के व्यर्थ उपयोग को रोकें और जन जन को इस सम्बंधी जागरूक बनाएं। कंवलजोत सिंह, क्षेत्रीय प्रबंधक, बीपीसीएल, देहरादून ने धन्यवाद ज्ञापन दिया. इस अवसर पर ईंधन के व्यर्थ उपयोग को रोकने तथा पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरुकता लाने के उद्देश्य से एक मानव श्रृन्खला का भी निर्माण किया गया तथा बच्चो के द्वारा ईंधन के व्यर्थ उपयोग को रोकने तथा पर्यावरण संरक्षण के संदेश के साथ रंग बिरंगे गुब्बारे भी छोडे गए तथा सक्षम वाहन को झंडा दिखाकर रवाना किया गया. इस कार्यक्रम में केंद्रीय विद्यालय आई आई पी व अन्य विद्यालयांे के बच्चों ने भाग लिया। इस अवसर पर आईआईपी द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों जैसे कि सामान्य तापमान पर बायोडीजल निर्माण,  पीएनजी बर्नर तथा बैटरी चालित वाहन आदि की प्रदर्शनी की सभी अतिथियों तथा प्रतिभागियों ने बहुत प्रशंसा की। इस अवसर पर शाक्य सिंह, क्षेत्रीय प्रबंधक (उन्नयन), नीरज गुप्ता, उप क्षेत्रीय अधिकारी, पी.सी.आर.ए., अमर कुमार जैन, मुख्य वैज्ञानिक, सीएसआईआर-आईआईपी, डॉ डीसी पांडे, अध्यक्ष, समारोह समिति, तथा अन्य वैज्ञानिक व कर्मचारी उपस्थित रहे।




Leave a Reply

error: Content is protected !!