BREAKING NEWS
Search

ठंडो रे ठंडो मेरा पहाड़ो की हवा – हरदा का संदेश -पहाड़ में रहना है तो ठंड ठंड तो बोलना ही होगा।

421


गैरसैंण में विधानसभा का शीतकालीन सत्र न किये जाने से नाराज पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गैरसैण में सांकेतिक धरना दिया , इस दौरान उन्होंने कहा कि उत्तराखंड हिमालयी प्रदेश है यहां ठंड तो होगी ही मगर मौजूदा प्रदेश सरकार ठंड के बहाने गैरसैण का विकास रोक देना चाहती है । प्रदेश के मुख्यमंत्री को माफी मांगनी चाहिये ।

गंभीर सिंह चमोली

इस दौरान वहां पूर्व डिप्टी स्पीकर अनुसुया प्रसाद मैखुरी , पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र भण्डारी , पूर्व बिधायक ललित फर्स्वाण , सरिता आर्य सहित सैकड़ो में संख्या में कॉंग्रेश के कार्यकर्ता मौजूद थे ।
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत आज गैरसैण पहुचे , यहां पहुचने के बाद कॉंग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हरीश रावत का जोरदार स्वागत किया , हरीश रावत के गैरसैण आगमन पर कॉंग्रेसियो की रैली मुख्य बाजार से होते हुए रामलीला मैदान पहुची , यहां पहुचने के बाद हरीश रावत ने वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की मूर्ति पर माल्यार्पण किया , गैरसैण के भराड़ीसैंण में विधानसभा का शीतकालीन सत्र आयोजित न किये जाने से नाराज पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सैकड़ो कॉंग्रेसियो की मौजूदगी में राष्ट्र गीत गाकर सांकेतिक उपवास शुरू किया ।

जनता को सम्बोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश में जो भी जनकल्याणकारी योजनाए कॉंग्रेश सरकार ने शुरू की थी वह आज बन्द पड़ी हुई है । हमने भराड़ीसैंण में सब कुछ तैयार कर के दे दिया है अब क्यो नही प्रदेश सरकार स्थायी राजधानी घोषित कर देती । बीते तीन सालों में प्रदेश का विकास पूरी तरह से ठप पड़ गया है । यह सरकार इन तीन सालों में विकास के नाम पर एक ईंट नही खड़ी कर पाई है। उत्तराखंड एक हिमालयी प्रदेश है यहां ठंडा होने स्वाभाविक बात है । मगर त्रिवेंद्र सरकार गैरसैण न आने को लेकर ठंड का बहाना बना रही है । इस बात पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत को माफी मांगनी चाहिए ।





Leave a Reply

error: Content is protected !!